रविंद्र जडेजा की जीवनी Ravindra Jadeja Biography In Hindi

भारतीय क्रिकेट टीम के एक अद्भुत ऑलराउंडर खिलाड़ी रविंद्र जडेजा जो आज के समय में भारतीय क्रिकेट टीम के एक महत्वपूर्ण हिस्सा हे ।  और इतना ही नहीं उन्होंने अपनी जादुई गेंदबाजी से आईसीसी की टेस्ट रैंकिंग में पहले स्थान पर कब्जा जमा रखा है। दोस्तों भारत में क्रिकेट के खेल को लेकर  जितना पागलपन है वह किसी भी दूसरे खेल को लेकर नहीं हे ।   मेरे ख्याल से यह भी कहना कुछ ज्यादा नहीं होगा कि भारत में क्रिकेट को लोग धर्म का दर्जा देते हैं और इससे अपनी निजी भावनाओं को जोड़ते हैं।  इन सभी बातों से आपको अंदाजा तो हो ही गया होगा 125 करोड़ की आबादी वाले इस देश में अपनी राष्ट्रीय टीम के लिए किकेट खेलना कोई छोटी बात नहीं हे । 


 और वो भी एक गरीब घर के लड़के  के  लिए तो ये असंभव सा लगता ह।  लेकिन रविंद्र जडेजा ने अपनी जनून और लगन और परिवार की सपोर्ट से असंभव को भी संभव कर दिखाया हे । इस पोस्ट मे रविंद्र जडेजा  को थोड़ा  करीब से जानते है। और उनके जीवन से प्रेरणादायक बातों को सीखने की कोशिश करते है।  रविंद्र जडेजा का जन्म गुजरात के जामनगर जिले की Navagamghed जगह पर हुआ था।

 उनके पिता का नाम अनिरुद्ध सिंह जडेजा था। जो अपने परिवार का गुजरा करने  के लिए  एक प्राइवेट सिक्योरिटी एजेंसी में चौकीदार का काम करते थे । रविंद्र की मां का नाम लता था ।  जो एक हाउसवाइफ थी ।  और घर की परिस्थितियां खराब होने के बावजूद पूरे परिवार की  बहुत ही प्रभावशाली ढंग से देखभाल करती थी। 

जडेजा के अलावा उनकी दो बहने  नैना और पद्मिनी भी हे । दोस्तों जडेजा को क्रिकेट का सौख बचपन से ही हे । लेकिन भारत में ये तो बहुत ही आम बात है। क्योंकि हर गली में सैकड़ों बच्चे तो क्रिकेट खेलते दिखाई दे ही जाएंगे। लेकिन खास बात यह है कि इतनी गरीबी में जिंदगी गुजारने के बादभी  जडेजा के माता-पिता ने उनका क्रिकेट गल्ली तक सीमित नहीं रहने दिया।

और घर की परिस्थितियां अच्छी ना होने के बावजूद उन्होंने जडेजा को  प्रोफेशनल क्रिकेट सिखाने के लिए क्रिकेट एकेडमी ज्वाइन करवाया।  दोस्तों अक्सर भारत में क्रिकेट को अपने करियर की तरह देखना सबसे बड़ा रिस्क माना जाता है। क्यों की अगर आपने क्रिकेट को  अपना समय दे दिया तो पढ़ाई की तरफ ध्यान तो हटना ही हे। और अगर पढ़ाई से आपका धियान हटा और क्रिकेट की जोरदार कम्पटीशन मे भी फ़ैल हो गए तो ज्यादातर चांस होती हे की पूरी लाइफ ख़राब हो जाये।


रविंद्र  जडेजा  की  मुख्य जानकारी


Ravindra Jadeja Biography 
पूरा नामरवींद्रसिंह अनिरुद्धसिंह जडेजा
निक नेम (Nick Name )जड्डू, आरजे, सर रवींद्र जडेजा
जन्म तारीख (Date of Birth)6 दिसंबर 1988
जन्म स्थान (Birth place)नवगमघेड, गुजरात, भारत
लंबाई (Height)5 फीट 7 इंच
भूमिकाऑलराउंडर

जडेजा के  माता-पिता उन लोगों में से थे जिन्हे अपने बेटे पर पूरा भरोसा था। जडेजा का माँ का सपना था  कि उनका बेटा भारत के नेशनल टीम के  लिए खेले। लेकिन दुर्भाग्य से 2005 में एक एक्सीडेंट के दौरान इस दुनिया को छोड़ कर चली गई।और जडेजा पूरी तरह टूट गए।   यहां तक कि उनके  माँ इस दुनिया में ना रेहनेका दुःख  इतना हो गया था की  उन्होंने क्रिकेट तक को छोड़ने का फैसला कर लिया।

लेकिन कुछ दिनों तक दुख ही रहने के बाद फिर से उन्होंने अपने आप को संभाला और अपनी मां की सपने को पूरा करने के लिए जी जान से जोड़कर जुड़ गए।  जडेजा की Coach बताते हैं कि जडेजा शुरू से सबसे पहले प्रैक्टिस के लिए आते थे और सभी के जाने के बाद ही  जाते थे।  उनका कहना था कि उनकी लगन और परिश्रम को देखकर मैं तो निश्चित था की जडेजा  नेशनल टीम के लिए एक दिन  खेलेगा।

आखिरकार जडेजा की प्रैक्टिस और लगन ने जल्दी ही अपना जलवा दिखाया। और 2005 के दौरान 16 साल की उम्र में भारत के Under -१९ टीम में सेलेक्शन   किया गया। उसके बाद अगली साल श्रीलंका में होने जा रहे अंडर-19 विश्व कप के लिए उन्हें टीम में खिलाया गया।  और उस विश्वकप में भी उनका परफॉर्मेंस काफी अच्छा रहा। 2008 में आईपीएल की ओपनिंग सेसन में जडेजा को  राजस्थान रॉयल्स द्वारा चुना गया।

और जडेजा ने भी उनके चुनाव को सही साबित करते हुए जीत में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।  आखिरकार उनका शानदार परफॉरमेंस किसी से छुपा नहीं रहा। और उनका सिलेक्शन भारत के नेशनल टीम में श्रीलंका में होने जा रहे वनडे सीरीज के लिए किया गया ।  8 फरवरी 2009 फाइनल में उन्हे खेलने का मौका दिया गया।

जहा उन्होंने 60 रनों की पारी खेली। और   इसी मैच के साथ उन्होने अपने माँ का सपना पूरा किया।  लेकिन उसी साल टी-20 में इंग्लैंड के खिलाफ  अपने धीमी पारी क लिए  उन्हें टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। लेकिन महेंद्र सिंह धोनी ने उन्हे सपोर्ट  किया और फिर से खेलने का मौका दिया।  और बस इसके बाद से  उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। और गेंदबाजी और बल्लेबाजी को जबरजस्त प्रदर्शन करते हुवे टीम के एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गए ।

 दोस्तों अगर जडेजा की पर्सनल लाइफ की बात करें तो 17 अप्रैल 2016 को उन्होंने मैकेनिकल इंजीनियर रीवाबा सोलंकी से शादी की।  दोस्तों रविंद्र जडेजा एक ऐसे बैकग्राउंड से थे जहां पर क्रिकेट में कैरियर बनाने का सोचना भी बहुत बड़ी बात थी। लेकिन उन्होने अपनी लगन परिश्रम और सकारात्मक सोच असंभव को भी संभव कर दिखाया।  

Post a Comment

0 Comments